• Mobile Menu
HOME BUY COURSES
LOG IN SIGN UP

Sign-Up IcanDon't Have an Account?


SIGN UP

 

Login Icon

Have an Account?


LOG IN
 

or
By clicking on Register, you are agreeing to our Terms & Conditions.
 
 
 

or
 
 




जनगणना

Sat 26 Dec, 2020

समाचार में क्यों?

  • हाल ही में  भारतीय रजिस्ट्रार जनरल (RGI) ने  भारत के सभी राज्यों के जनगणना समन्य्वको को जनगणना रजिस्टर को अद्यतन करने के निर्देश दिए है|
  • कोविड -19 महामारी  के चलते जनगणना को अनिश्चित काल के लिए निलंबित कर दिया गया था।
  • भारतीय रजिस्ट्रार जनरल (आरजीआई) से इस प्रकार के निर्देशों का अर्थ है कि जनगणना निकट भविष्य  में की जा सकती है |

परीक्षा उपयोगी तथ्य

  • जनगणना किसी देश की जनसंख्या का एक आधिकारिक व्यवस्थित सर्वेक्षण है। भारत में पिछली जनगणना 2011 में की गयी थी और अगला सर्वेक्षण 2021 में किया जाएगा।
  • जनगणना कार्यक्रम पहली दफा 1872 में ब्रिटिश वायसराय लॉर्ड मेयो के कार्यकाल में शुरू हुआ लेकिन भारत में पहली बार समकालिक जनगणना 1881 में की गयी थी | तब से, जनगढ़ना प्रत्येक 10 वर्ष में की जाती है|
  • यह एक निश्चित समय पर देश की आबादी और आवास की स्थिति का सही चित्र प्रदान करती है।
  • यह जनगणना अधिनियम, 1948 द्वारा कानूनी रूप से मान्य है।
  • यह राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन द्वारा करवायी जाती है।
  • गृह मंत्रालय के अधीन रजिस्ट्रार जनरल और जनगणना आयुक्त का कार्यालय जनगणना कार्यक्रम के  संचालन की देखरेख करता है| 2011 की जनगणना  भारत की 16 वीं जनगणना एवं  भारत की स्वतंत्रता के बाद 8 वीं जनगणना थी।
  • यह अनुसूची 8 के तहत  उल्लेखित 22 अनुसूचित भाषाओं में से 18 भाषाओं में आयोजित की जाती है जबकि 2011 की जनगणना में 22 अनुसूचित भाषाओं में से 16 भाषाओ में यह आयोजित की गयी थी|
  • एनएसएसओ ने अपना जनसंख्या सर्वेक्षण शुरू किया है जो 2021 में प्रकाशित होगा|

राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR)

  • राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर देश के सामान्य निवासियों का एक रजिस्टर है। इसे स्थानीय (गांव और कस्बा ), उप-जिला, जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर नागरिकता अधिनियम के प्रावधानों के तहत, 1955 और नागरिकता (नागरिकों का पंजीकरण और राष्ट्रीय पहचान पत्र जारी करना) नियम, 2003 तहत तैयार किया जाता है।
  • भारत के प्रत्येक "सामान्य निवासी" के लिए एनपीआर में पंजीकरण कराना अनिवार्य है।
  • एनपीआर के लिए डेटा पहली बार 2010 में जनगणना के गृहसूची चरण के साथ ही ले लिया गया था |